लॉकडाउन के दौरान समाज में कई ऐसी कहानियां आई जो लोगों को हमेशा याद रहेंगी. किस तरह लोग दो महीनों तक जहाँ-तहां फंसे रहे. किस तरह लोगों ने दो महीने बिना फिल्मों और मॉल्स के, बिना ट्रेवल किये, बिना घर से निकले गुज़ारे ये वो ताउम्र नहीं भूल सकते. मध्य प्रदेश के विदिशा से भी एक ऐसी ही कहानी सामने आई जिसे एक परिवार कभी नहीं भूल सकता.

ये भी पढ़ें कूली नंबर वन का ट्रेलर हुआ रिलीज, यूट्यूब पर लाइक और डिसलाइक बटन बंद तो लोगों ने कमेन्ट में उड़ा दी धज्जियाँ

विदिशा जिले के नटेरन के पमारिया गांव में एक शख्स लॉकडाउन में कामकाज बंद होने से दो महीनों तक ससुराल में ही घर जमाई बना रहा. इसी बीच उसकी अपनी 17 वर्षीय साली से प्रेम सम्बन्ध बन गए. दोनों की नजदीकियां देख कई बार सास और पत्नी को उसपर शक हुआ लेकिन वो हमेशा साली को अपनी छोटी बहन जैसा बता कर उन्हें चुप करा देता. 7 दिन पहले वो मौका देख साली को ले कर भाग गया.

पुलिस ने दोनों को बरामद कर लिया लेकिन शर्मिंदगी की वजह से साली ने ज़हर खा लिया. इलाज के लिए उसे अस्पताल में भारती कराया गया है.

ये भी पढ़ें युवक की गर्लफ्रेंड ऑटोवाले के साथ भाग गई, फिर देखिये बदला लेने के लिए युवक ने क्या किया

बताया जा रहा है कि लॉकडाउन की वजह से जब दामाद की नौकरी चली गई तो ससुराल वालों ने उसे अपने यहाँ बुला लिया. घर वाले अब तक सदमे में हैं कि दामाद ने उनकी दोनों बेटियों की ज़िन्दगी बर्बाद कर दी.