उत्तर प्रदेश में बस पॉलिटिक्स अब कांग्रेस को भारी पड़ती जा रही है. प्रियंका गाँधी (Priyanka Gandhi) की राजनीति चमकाने के चक्कर में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू (Ajay Kumar Lallu) को 14 दिन की जेल हो गई. बुधवार को अजय कुमार लल्लू को अस्थायी जेल में रखा गया था. हालांकि, अब उन्हें स्थायी जेल गोसाईंगंज भेज दिया गया है. अजय कुमार लल्लू को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है. उनका कोरोना टेस्ट भी कराया गया. हालाँकि रिपोर्ट निगेटिव आई है.

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थित हजरतगंज पुलिस थाने में अजय कुमार लल्लू और प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) के निजी सचिव संदीप सिंह के खिलाफ धोखाधड़ी के मामले में आईपीसी की विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया गया था. आरोप था कि उन्होंने 1000 बसों की जो लिस्ट दी थी उसमे दोपहिया वाहन, प्राइवेट कार, ऑटो और सामान ढोने वाला टैम्पो भी शामिल था.

अजय कुमार लल्लू को जेल भेजे जाने के बाद यूपी कांग्रेस के उपाध्यक्ष पंकज मलिक और वीरेंद्र चौधरी ने कहा, ‘अजय कुमार लल्लू ने जो मजदूरों के हितों के लिए आवाज उठाई है, आज पूरे प्रदेश के कांग्रेस कार्यकर्ता उस आवाज को बुलंद कर रहे हैं. कांग्रेस का एक-एक वर्कर अजय कुमार लल्लू के साथ खड़ा है. कांग्रेस का मकसद सेवाभाव था, जबतक सड़क पर एक भी श्रमिक होगा, कांग्रेस उनकी मदद करती रहेगी.’