लद्दाख के गलवान घटी (Galwan Valley) में भारत और चीन के बीच हुए टकराव के बाद ताइवान न्यूज (Taiwan News) के एक पोस्टर ने सोशल मीडिया पर तहलका मचा दिया है. इस पोस्टर में भगवन श्री राम अपने बाणों से खूंखार ड्रैगन को मारते दिख रहे हैं. ये पोस्टर बुराई पर अच्छाई की जीत के प्रतीक के रूप में दर्शाया गया है.  इस पोस्टर का शीर्षक है – Photo of the Day: India’s Rama takes on China’s dragon.

सोशल मडिया पर ये पोस्टर तेजी से वायरल हो रहा है. चीन से जिस तरह दुनिया भर के देश परेशान है वो अपने लिए भी मौका देख रहे हैं चीन को सबक सिखाने का. ताइवान तो दशकों से अपनी अलग पहचान के लिए छटपटा रहा है. चीन ने ताइवान को धमकी दी थी कि चुपचाप चीन के साथ मिल जाए वरना सैन्य बल के दम पर ताइवान को चीन में मिला लिया जाएगा. इधर भारत ने चीन के साथ तनाव के मद्देनज़र वन चाइना पॉलिसी में बदलाव किया है. ताइवान की नवनिर्वाचित राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण समारोह में भारत की सत्ताधारी पार्टी भाजपा के दो सांसद शामिल हुए थे. इसके अलावा हांगकांग के प्रदर्शनकारी भी चीन की आक्रमणकारी नीति के खिलाफ भारत के समर्थन में बातें कह रहे हैं.

तिब्बत भी चीन से अलग हो कर अपनी पुरानी पहचान पाने को बेचैन है. अमेरिका के सैन्य विशेषज्ञों का भी कहना है कि चीन ने इस बार मधुमक्खी के छत्ते में हाथ डाल दिया है. साउथ चाइना सी में भी चीन की करतूतों के खिलाफ एकजुटता बढ़ रही है.

गलवान घाटी में चीन ने जिस मंशा के साथ भारतीय सैनिकों पर हमला किया और जिस तरफ से पलटवार में उसे नुकसान उठाना पड़ा उसे उसकी उम्मीद नहीं थी. उसे नुकसान इतना ज्यादा हुआ है कि बेज्जती के डर से चीन अपने मृत और हताहत सैनकों की संख्या भी जारी नहीं कर रहा. आज पीएम मोदी ने भी साफ़ कह दिया है कि भारत किसी को उकसाता नहीं लेकिन उकसाने वालों को छोड़ता भी नहीं.