सत्ता से बाहर रहने से दिमाग पर कितना बुरा असर पड़ सकता है इसकी मिसाल है समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और उनके चेले. अखिलेश यादव ने जहाँ कोरोना वैक्सीन को बीजेपी का वैक्सीन बता दिया और लगवाने से इनकार कर दिया. वहीँ अब उनके विधायक उनसे भी चार कदम आगे निकल गए. विधयाक जी न तो कोरोना वैक्सीन को बीजेपी की नपुंसक बनाने की साजिश करार देने लगे.

समाजवादी पार्टी के MLC आशुतोष सिन्हा ने कहा, ‘सपा सुप्रीमो ने तथ्यों के आधार पर ही बयान दिया होगा, हमें लगता है कि कहीं ना कहीं उस वैक्सीन में ऐसी चीज होगी कि नुकसान हो जाए. हमें लगता है कि बीजेपी वाले बाद में कह देंगे कि जनसंख्या कम करने के लिए, नपुंसक बनाने के लिए वैक्सीन लगा दी.’ आशुतोष सिन्हा ने सबसे अपील कर दी कि सिर्फ सपा कार्यकर्ताओं को ही नहीं बल्कि किसी को ये वैक्सीन नहीं लगवानी चाहिए.