देश का दिल दिल्ली जल रही है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की भारत यात्रा के दौरान सुनियोजित तरीके से देश को बदनाम करने के लिए CAA विरोधियों ने देश की राजधानी को आग में झोंक दिया. CAA विरोधी प्रदर्शन साम्प्रदायिक हिंसा में बदल गया.

जाफराबाद (Delhi Violence) में जो शख्स पुलिस पर फायरिंग कर रहा था उसकी पहचान मौजपुर निवासी मोहम्मद शाहरुख़ (Shahrukh) के रूप में हुई और सोमवार को देर रात पुलिस ने उसे शिकंजे में ले लिया. सोशल मीडिया पर उसकी तस्वीरें और वीडियो वायरल हो रहे थे.

तस्वीरें वायरल होने के बाद ही पुलिस ने उसकी तलाश शुरू कर दी थी. सोशल मीडिया पर चल रहे विडियो और फोटो में भी इस शख्स को हाथ में बंदूक लिए पुलिस वाले के सामने बढ़ते देखा जा सकता है. जब पुलिसकर्मी ने शख्स को रोका तो इस व्यक्ति ने वहीं गोली चला दी. शाहरुथ ने 8 राउंड गोलियां चलाई. उसके बाद उन्मादी भीड़ उसके साथ मिल गई और फिर दिल्ली की सड़कों पर कहर बरपाया गया.

ये भी पढ़ें जाफराबाद में पुलिस पर फायरिंग करने वाला निकला शाहरुख़, जल्द पता चलेगा कि उसके हाथ में तमंचा नहीं बल्कि गुलाब था

सोमवार को हुई हिंसा में 4 लोगों की मौत हो गई है और 60 लोग घायल हुए हैं. घायलों में 10 पुलिस कर्मी भी हैं. उत्तर-पूर्वी दिल्ली के सीलमपुर, जाफराबाद, मौजपुर, शाहदरा, गोकलपुरी समेत कुछ इलाकों में हालात बेहद तनावपूर्ण हैं. हालात संभालने के लिए पैरा मिलिटरी फ़ोर्स को लगाया गया है. पैरा मिलिटरी फ़ोर्स के जवानों ने पुरे इलाके में फ्लैग मार्च किया. कई इलाकों में धारा 144 लगाई गई है. अगर हालात काबू नहीं हुए तो कफ्यू भी लगाया जा सकता है.