बीते दिनों सोशल मीडिया पर एक वीडियो ने दिलों को झकझोर दिया था. बिहार के समस्तीपुर के एक किसान ने गोभी की फसल की कीमत 1 रुपये प्रति किलो मिलने की वजह से अपनी खड़ी फसल पर ट्रैक्टर चला दिया था. अब उसे दूसरे राज्य में अपनी फसल का 10 गुना दाम मिला है. गदगद किसान ने कहा कि अब वो कृषि कानून के फायदे सबको बताएगा.

गोभी की फसल पर ट्रैक्टर चलाने वाले किसान ओम प्रकाश यादव ने केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद से बात करते हुए कहा, ‘CSC के जरिए मेरी फसल ठीक दाम पर बिक गई. हालांकि अभी पूरी फसल नहीं बिकी है, सिर्फ 4 टन माल बिका है.’ इस पर रविशंकर प्रसाद ने किसान से कहा- ‘अभी तो यह शुरुआत है. आगे भी आपकी फसल बिकेगी.’

रविशंकर प्रसाद ने समस्तीपुर के मक्तापुर गांव के किसान से आग्रह किया कि आप अपने इस अनुभव को बाकी किसानों के साथ शेयर कीजिए. उनको बताइए कि नए कानून की वजह से समस्तीपुर की गोभी अच्छे दाम पर दिल्ली में बिक गई. रविशंकर प्रसाद के आग्रह पर किसान ने कहा- ‘ठीक है मैं बाकी लोगों को भी इस बारे में बताऊंगा.’

दरअसल रविशंकर प्रसाद ने खबर के संज्ञान में आने के बाद अपने विभाग के कॉमन सर्विस सेंटर को निर्देश दिया कि वे किसान से संपर्क करें और उनकी फसल को देश के दूसरे राज्य में सही दाम पर बेचने का बंदोबस्त करें. सरकार ने कृषि उत्पादों की बिक्री के लिए डिजिटिल प्लेटफार्म बना रखा है. इसी प्लेटफार्म पर दिल्ली के एक खरीददार ने किसान की गोभी 10 रुपये प्रति किलो खरीदने का प्रस्तान दिया.