कोरोना संकट के बीच एक तरफ जहाँ कम्पनियाँ अपना कारोबार बचाने में लगी हुई हैं वहीँ मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) और रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries limited) की ऊँची उड़ान थमने का नाम नहीं ले रही. देश के प्रसिद्द और सबसे बड़े रिटेल चेन बिग बाज़ार और FBB पार्ट अब रिलायंस का कब्ज़ा हो गया.

रिलायंस इंडस्ट्रीज की सब्सिडियरी कंपनी रिलायंस रीटेल वेंचर्स लिमिटेड (RRVL) फ्यूचर ग्रुप की रीटेल एंड होलसेल बिजनेस और लॉजिस्टिक्स एंड वेयरहाउसिंग बिजनेस का अधिग्रहण करेगी. कंपनी ने शनिवार को प्रेस रिलीज जारी कर इसकी जानकारी दी. इस डील के साथ ही अब रिलायंस फ्यूचर ग्रुप के बिग बाजार, ईजीडे और FBB के 1,800 से अधिक स्टोर्स तक पहुंच बनाएगी, जो देश के 420 शहरों में फैले हुए हैं.

यह डील 24713 करोड़ में फाइनल हुई है. इस डील के साथ ही फ्यूचर ग्रुप की रीटेल और होलसेल बिजनेस रिलायंस रीटेल एंड फैशन लाइफस्टाइल लिमिटेड (RRFLL) के अंतर्गत आ जाएगी.  RRFLL मर्जर के बाद फ्यूचर एंटरप्राइजेज लिमिटेड में निवेश भी करेगी. वह 1200 करोड़ प्रेफरेंशियल इश्यू के जरिए निवेश करेगी और फ्यूचर एंटरप्राइजेज लिमिटेड में 6.09 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेगी.

रिलायंस रीटेल की डायरेक्टर ईशा अंबानी ने कहा कि हम छोटे व्यापारियों के साथ सक्रिय सहयोग के हमारे अनूठे मॉडल के साथ रिटेल इंडस्ट्री के विकास की गति को जारी रखने की उम्मीद करते हैं. हम देश भर में अपने उपभोक्ताओं को अहमियत प्रदान के लिए हम प्रतिबद्ध हैं.

स्कीम के तहत रीटेल और होलसेल उपक्रम को रिलायंस रिटेल एंड फैशन लाइफस्टाइल लिमिटेड (RRFLL) में स्थानांतरित किया जा रहा है, जो RRVL की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है. लॉजिस्टिक्स और वेयरहाउसिंग को RRVL में ट्रांसफर किया जा रहा है. अधिग्रहण के हिस्से के रूप में फ्यूचर ग्रुप फ्यूचर एंटरप्राइजेज लिमिटेड (FEL) में कुछ कंपनियों का विलय करेगा.