पाकिस्तान के बडबोले क्रिकेटर शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) इस बार फिर विवादों में हैं. इस बार वो अपने ही देश के लोगों के निशाने पर हैं. शाहिद इन दिनों इमरान खान की तरह राजनितिक पारी की शुरुआत करने की कोशिश में हैं. इसलिए जहाँ तहां पहुँच कर भीड़ जुटा कर राजनीतिक भाषणबाजी शुरू कर देते हैं. लेकिन इस बार उनकी ये कोशिश उन्हें भारी पड़ गई और वो अपने ही देश के लोगों के निशाने पर आ गए.

दरअसल, शुक्रवार को कराची में विमान हादसे (Plane Crash) के बाद शाहिद अफरीदी अपना चेहरा चमकाने के लिए घटनास्‍थल पर पहुंच गए. अगर वो घटनास्थल का जायजा लेने जाते तो और बात होती, वहां पहुँच कर अफरीदी टी भीड़ जुटा कर भाषण भी देने लगे. अफरीदी के पहुंचते ही राहत और बचावकर्मी अपना काम छोड़कर उनके साथ फोटो खिंचवाने और आवभगत में जुट गए. सोशल मीडिया पर अफरीदी की तस्वीरें वायरल हुई और वो अपने ही देश में घिर गए.

सोशल मीडिया पर लोगों ने अफरीदी को जम कर खरी खोटी सुनाई. एक यूजर ने कहा ‘मेरा मानना है कि चुनाव आयोग को खत्‍म कर देना चाहिए और चुनाव कराने पर अरबों रुपये बर्बाद नहीं करना चाहिए. हर साल ऑल पॉकिस्‍तान क्रिकेट लीग को एक प्रधानमंत्री चुनना चाहिए. इमरान खान के बाद अफरीदी दूसरे प्रधानमंत्री बनेंगे.’

एक अन्य यूजर ने कहा ‘क्‍यों शाहिद अफरीदी को राहत और बचाव स्‍थल पर जाने की अनुमति दी गई? क्‍यों ड्यूटी पर तैनात बचाव टीम अफरीदी को जाने के लिए कहने की बजाय उनकी फोटो खींच रही है. विमान के राहत बचाव दल के प्रभारी को जांच करनी चाहि. यह खुद के प्रचार के लिए दुखद हादसे का बहुत ही गैरजिम्‍मेदाराना इस्‍तेमाल है.’

शाहिद अफरीदी को इन दिनों भीड़ जुटा कर भाशंबाजी का चस्का लग गया है. बीते सप्ताह उन्होंने पाक अधिकृत कश्मीर में भी भाषण देते हुए पीएम मोदी के खिलाफ जमकर जहर उगला था और कश्मीर का राग अलापा था. और अब तो दुर्घत्नास्थाप पर ही शुरू हो गए. इसी हरकतों की वजह से गौतम गंभीर उन्हें 16 साल का बच्चा कहते हैं.