निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के मरकज के खुलासे के बाद आज देश भर में हडकंप मच गया. कई राज्यों की पुलिस हरकत में आई और विदेशी मुसलमानों की खोज में छापेमारी शुरू हुई. लखनऊ के एक मस्जिद से 13 विदेशी मुसलमानों की बरामदगी के बाद अब महाराष्ट्र के अहमदनगर (Ahmadnagar) की एक मस्जिद में छुपे 10 विदेशी नागरिकों को छापा मार कर पुलिस ने हिरासत में लिया और जांच के लिए अस्पताल भेजा.

इस सिलसिले में आज अहमदनगर जिले के नेवासा पुलिस थाने में दो लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. विदेश से आए 10 लोगों को मस्जिद में छिपाकर रखने को लेकर सेक्शन 188 के तहत दर्ज किया गया है. पुलिस ने सभी 10 लोगों को हिरासत में लेकर सिविल अस्पताल में भर्ती किया है. सभी का कोरोना का टेस्ट किया जाएगा. इसके अलावा तबलीग जमात के मरकज से उनका कोई संबंध था क्या, इसकी भी जांच चल रही है.

कुछ दिनों पहले पटना के एक मस्जिद से कुछ विदेशी मुसलमानों को पकड़ा गया था. आज लखनऊ से भी 13 विदेशी मुसलमानों को पकड़ा गया. और अब अहमदनगर से. इतनी बड़ी संख्या में देश के अलग अलग हिस्सों में विदेशी मुसलमानों का पकड़ा जाना किसी बड़ी साजिश की तरफ इशारा कर रहा है. क्या ये किसी नयी किस्म की जेहाद की तैयारी थी. कोरोना जेहाद की. मुश्किल वक़्त में जब हर कोई देश के साथ खड़ा है. मुस्लिम समाज और मस्जिदों की देशविरोधी गतिविधयां उन्हें सवालों के घेरे में खड़ा करती है और फिर वो सवाल करते हैं कि उनसे देशभक्ति का समुत माँगा जाता है.