सर्दियाँ शुरू होते ही पहाड़ों पर बर्फ़बारी भी शुरू हो गई है. बड़ी संख्या में सैलानी छुट्टियाँ बिताने पहाड़ों का रुख कर रहे हैं. अगर आपने भी कोई प्लान बनाया है तो जरा ठहरिये और पहले इन नियमों को जान लीजिये जो उत्तराखंड (Uttrakhand) और हिमाचल सरकार (Himachal Pradesh) ने कोरोना मामलों की बढती संख्या को देख कर बनाया है. वरना कहीं ऐसा न हो कि आप ढेर साड़ी उम्मीदों के साथ पहाड़ों पर पहुंचे और आपके सारे प्लान का छीछालेदर हो जाए.

उत्तराखंड 

उत्तराखंड सरकार ने उत्तराखंड आने वाले हर यात्री के लिए स्‍मार्ट सिटी वेब पोर्टल पर रजिस्‍ट्रेशन अनिवार्य कर दिया है. इस पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कर्क्जे आपको बताना होगा कि आप कितने लोगों के साथ आ रहे हैं. कितने दिनों के लिए आ रहे हैं और आपका प्लान कहाँ कहाँ का है.

सूर्यास्त

उत्तराखंड परिवहन निगम ने भी अपनी गाइडलाइंस जारी की हैं. इसमें कहा गया है कि दिल्ली से बस में बैठकर हल्द्वानी और रुद्रपुर आने वाले यात्रियों को रास्ते में नहीं उतारा जा सकेगा. सभी यात्रियों को बस स्टेशन तक लाया जाना जरूरी होगा. बस स्टैंड पर उनका कोरोना टेस्ट किया जाएगा. गौरतलब है कि कुमाऊं रीजन में जाने के लिए हल्द्वानी बेस है. यहीं से पहाड़ शुरू होते हैं.

आदेश में कहा गया है कि दिल्ली से आ रहे यात्रियों को बस स्टेशन पर ही उतरना होगा. यहां पर मौजूद स्वास्थ्य विभाग की टीम उनकी रैंडम सेंपलिंग करेगी. यात्रियों की रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, एयरपोर्ट और बॉर्डर पर थर्मल स्क्रीनिंग और दस्तावेजों की जांच की जाएगी. किसी भी तरह के लक्षण पाए जाने पर संबंधित व्यक्ति का एंटीजन टेस्ट किया जाएगा.

हिमाचल 

हिमाचल सरकार ने 4 जिलों शिमला, मंडी, कांगड़ा और कुल्लू में रात 8 से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू का भी ऐलान किया है. अगर आप तो आप अपनी प्लानिंग इस तरह से करें कि शुअभ 6 बजे के बाद ही इन जगहों पर पहुंचे. रात में पहुँचने की भूल न करें वरना लेने के देने पड़ सकते हैं. रात में शांत सड़क पर चहलकदमी करना भी भारी पड़ सकता है.

हिमाचल सरकार ने रविवार को क्लोजिंग डे घोषित कर दिया है. वीकेंड में आने वाले पर्यटकों को प्रसिद्द बाज़ार और मॉल रोड बंद मिलेंगे. इससे आपको निराशा हो सकती है.