उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) को बम से उड़ाने की धमकी देने वाले कामरान ने पुलिस पूछताछ में बड़ा खुलासा किया है. इस खुलासे के बाद पुलिस अब ये पता लगाने में जुटी है कि क्या सीएम योगी को धमकी देने के पीछे कोई तीसरा लिंक है जो खुद तो सामने नहीं आया लेकिन कामरान के जरिये धमकी दिलवाई. उत्तर प्रदेश पुलिस की एसटीएफ (UP STF) ने कामरान से पूछताछ की. इसी पूछताछ में कामरान ने बताया कि उसे योगी आदित्यनाथ को धमकी देने के बदले एक करोड़ रुपये देने का वादा किया गया था. हालांकि, कामरान ने यह नहीं बताया है कि उसे पैसों का ऑफर देने वाला शख्स कौन है.

रविवार को कामरान को मुंबई से गिरफ्तार किया गया और स्थानीय अदालत में पेश किया गया, जिसके बाद उसे ट्रांजिट रिमांड में भेजते हुए यूपी एसटीएफ के हवाले कर दिया गया. कामरान की गिरफ्तारी के बाद अब पुलिस को धमकी भरी कॉल आई है. महाराष्ट्र एटीएस ने बताया कि धमकी भरी यह कॉल लखनऊ पुलिस की स्पेशल मीडिया डेस्क को आई है. इस कॉल पर कहा गया, ‘जिसे गिरफ्तार किया है, उसे छोड़ दो वरना अंजाम भुगतना पड़ेगा.’

दूसरी धमकी मिलते ही महाराष्ट्र एटीएस को सूचना दी गई. एटीएस की नासिक यूनिट ने 20 साल के एक युवक को इस दूसरी धमकी भरे कॉल के लिए नासिक के भद्रकाली इलाके से गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस कामरान से उसके संबंध के बारे में जांच कर रही है. यूपी पुलिस के अलावा इस मामले में मुंबई और महाराष्ट्र की पुलिस भी पूरी तरह से जुटी हुई है और धमकी देने की पूरी सच्चाई तलाशने की कोशिश की जा रही है.

ये भी पढ़ें योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी देने वाला शख्स मुंबई से गिरफ्तार, आज सौंपा जाएगा यूपी पुलिस को