पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद (Jafrabad) में हुए दंगों के दौरान पुलिस पर फायरिंग करने वाले शख्स की पहचान हो गई है. उसका नाम मोहम्मद शाहरुख़ है (Mohammad Shahrukh). और वो उसी इलाके का रहने वाला है. हालाँकि वामपंथी लिबरल गैंग ने उसे CAA समर्थक बताने की कोशिश की लेकिन सच सामने आ ही गया.

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में शाहरुख पुलिस पर बन्दूक ताने दिखता है और एक के बाद एक आठ बार फायरिंग करता है. उसके फायरिंग करने के बाद पत्थरबाजों और दंगाइयों की भीड़ उसके साथ मिलकर कहर बरपाती है. सबसे दिलचस्प बात ये है कि अनुराग कश्यप, राणा अयूब के नेतृत्व में वामपंथी लिबरल गैंग ने शाहरुख़ की पहचान को छुपा कर इसे भगवा आतंकवाद से जोड़ने की भरसक कोशिश की. लेकिन द प्रिंट की अनन्या भारद्वाज ने उनके नाम को सार्वजनिक करते हुए लिखा कि पुलिस उसकी तलाश कर रही है.

ANI ने भी पुष्टि करते हुए लिखा कि फायरिंग करने वाले का नाम शाहरुख़ है.

इंतज़ार कीजिये, जल्द ही ऑल्ट न्यूज की तरफ से फैक्ट चेक आता ही होगा कि मोहम्मद शाहरुख़ के हाथों में बन्दूक नहीं बल्कि गुलाब का फूल था और वो दंगाई को गुलाब भेंट कर शांति स्थापित करने की कोशिश कर रहा था. उसके बाद रवीश कुमार 75 बीघा का पोस्ट लिख कर ऑल्ट न्यूज की तारीफ़ में महाकाव्य की रचना करेंगे.