देश में लव जिहाद (Love Jihad) को लेकर जोरदार बहस चल रही है. भाजपा शासित राज्य इसको लेकर क़ानून बना रहे हैं. फिर भी लव जिहाद के मामले लगातार सामने आ रहे हैं. मध्य प्रदेश के उज्जैन से लव जिहाद का के मामला सामने आया है जहाँ आरोपी नाम और धर्म बदल कर तलाकशुदा महिला का 2 साल तक शारीरिक शोषण करता रहा. लेकिन युवक के ड्राइविंग लाइसेंस से उसकी पोल खुल गई.

रिपोर्ट के मुताबिक महिला अपने पति से तलाक के बाद उज्जैन में रह रही थी. यहां 2 साल पहले उसकी मुलाकात विकास नाम के युवक से हुई जिसने उसे खुद को नागदा का रहने वाला बताया था. युवक बकायदा महिला के साथ मंदिर जाता, लेकिन बाहर ही खड़ा रहता था और वजह पूछे जाने पर खुद को नास्तिक बताता था. हाल ही में शक होने पर जब महिला में उसका पर्स खंगाला तो उसमें वसीम नाम से युवक का ड्राइविंग लाइसेंस मिला, जिसके बाद पीड़िता ने महिला थाने जाकर अपनी आपबीती बताई.

पीड़ित महिला ने बताया, ‘मुझे वसीम नाम का लड़का विकास नाम से मिला था. एक जया नाम करके लेडी से जो मेरे घर के सामने किराए पर रहती थी, उन्होंने मुझे कुछ मदद के लिए उससे मिलवाया था कि यह विकास है, आपकी मदद करेंगे. बाद में वह रिलेशन में जुड़ गया. उसने अपना हिन्दू नाम ही बताया और कहा कि वो राजपूत है. अभी 2 महीने पहले पता चला कि वह वसीम है और अपना नाम बदलकर मुझे शादी का झांसा देकर मेरा शोषण कर रहा था’.

इस मामले में उज्जैन के एएसपी अमरेन्द्र सिंह ने बताया कि पीड़िता ने यहां पर आकर रिपोर्ट लिखवाई है, जिसके आधार पर महिला थाने के अंतर्गत एफआईआर दर्ज की गई है. फिलहाल आरोपी की तलाश की जा रही है.’

जल्द ही मध्य प्रदेश में भी लव जिहाद के खिलाफ कानून बनने जा रहा है, जिसका नाम होगा ‘धर्म स्वतंत्र अधिनियम 2020.’ इसके तहत किसी भी लड़की या महिला के साथ नाम बदलकर और धोखे में रखकर शादी करने पर कार्रवाई की जाएगी और आरोप सिद्ध होने पर आरोपी को जेल की हवा खानी पड़ेगी.