खालिस्तानी आतंकी जनरैल सिंह भिंडरावाले (Jarnail Singh Bhindranwale) को शहीद बताकर बुरी तरह फंसे हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने अब माफी मांग ली है. भारतीय क्रिकेट टीम से दरकिनार किए गए अनुभवी ऑफ स्पिनर ने सोशल मीडिया पर बयान जारी किया है.

हरभजन ने ट्विटर अकाउंट पर लिखा,

”इंस्टाग्राम पर कल लगाई गई एक स्टोरी के लिए मैं माफी के साथ सफाई देना चाहता हूं. वो वॉट्सएप्प पर प्राप्त एक तस्वीर थी, जिसे बिना पढ़े और समझे मैंने शेयर कर दी. मैं अपनी गलती स्वीकारता हूं. न तो मैं उस विचारधारा का समर्थक हूं और न ही उनमें से किसी व्यक्ति का. मैं एक सिख हूं, जो देश के लिए लड़ेगा न कि खिलाफ. अपने देशवासियों की भावनाओं को ठोस पहुंचाने के लिए मैं बिना शर्त माफी मांग रहा हूं. मैंने 20 साल अपना खेल-पसीना देश के लिए बहाया है और जो भी हिंदुस्तान के खिलाफ है, हमेशा उसके खिलाफ ही रहूंगा.” 

ऑपरेशन ब्लू स्टार की 37वीं बरसी पर 40 वर्षीय हरभजन ने अपने इंस्टाग्राम स्टोरी में भिंडरवाले को शहीद बताने की कोशिश करते हुए उसे प्रणाम किया था. स्टोरी में लिखा गया, ‘सम्मान के साथ जीना धर्म के लिए मरना. 1 जून से छह जून 1984 को सचखंड श्री हरिमंदर साहिब पर शहीद होने वाले सिंह-सिंहनियों की शहादत को कोटि-कोटि प्रणाम.’ इसके बाद हरभजन ट्विटर पर ट्रोल होने लगे. अपनी फिरकी में दुनिया भर के दिग्गज बल्लेबाजों को फंसाने वाले हरभजन ने जो स्टोरी शेयर की थी, उसमें भिंडरवाले की नीली पगड़ी में एक फोटो भी लगाया गया है.