एयरपोर्ट से भाग कर लखनऊ पहुंची कनिका कपूर (Kanika Kapoor) अब कोरोना (Corona) पॉजिटिव पाई गई है. लेकिन वो अपनी गलती को स्वीकारने की बजाये यूपी सरकार, स्वास्थ्य विभाग और पुलिस पर भी भड़क रही है. उनके पिता ने कहा था कि वो 3-4 पार्टियों में गई और 300-400 लोग पार्टियों में शामिल थे लेकिन कनिका ने पिता को ही झूठा ठहराते हुए कहा कि पता नहीं पिता कैसे ऐसी बातें कर रहे हैं. मैं तो बस एक फैमिली पार्टी में गई थी जहाँ 10-20 लोग ही थे.

साथ ही अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ते हुए वो कह रही है कि पुलिस और स्वास्थ्य विभाग उसे धमका रहा है. उससे ऐसे व्यवहार किया जा रहा है मानों उसने कोई जुर्म किया है

आज तक से बात करते हुए कनिका कपूर बार बार ये कहती रही कि वो पढ़ी लिखी महिला है लेकिन साथ ही वो ये भी कह रही है कि उसे कोई भी ट्रेवल एडवाइजरी की जानकारी नहीं है. उसे ये पता ही नहीं है कि दुनिया भर के देश ट्रेवल एडवाइजरी जारी कर रहे हैं. उसे ये पता ही नहीं है कि सरकार जनवरी से ही कह रही है कि कोरोना प्रभावित देश से लौटने के बाद आप खुद को सेल्फ क्वारंटीन करे लेकिन पढ़ी लिखी होने की धौंस जमाने वाले कनिका को कुछ पता नहीं है.

अब सवाल ये है कि क्या पढ़ी लिखी कनिका कपूर अखबार नहीं पढ़ती? क्या पढ़ी लिखी कनिका कपूर न्यूज नहीं देखती?

कनिका और उनके पिता दोनों से आज तक से बात की और दोनों की बातों में जमीन आसमान का अंतर है. पिता कुछ और कह रहे और बेटी कुछ और कह रही. पिता कह रहे बेटी 300-400 लोगों के संपर्क में आई है और कनिका कह रही वो बस 30 से 40 लोगों के संपर्क में आई थी. और इससे ये साफ़ जाहिर होता है कि दोनों झूठ बोल रहे हैं और बहुत कुछ छुपा रहे हैं.

ये बात भी पता चली है कि जिस पार्टी में कनिका शामिल हुई थी उस पार्टी में वसुंधरा राजे सिंधिया के बेटे दुष्यंत सिंह भी शामिल थे. अब दुष्यंत सिंह ने खुद को क्वारंटीन कर लिया है लेकिन उससे पहले वो कई दिनों से संसद आ रहे थे.