कोरोना वायस (Corona Virus) से निपटने के लिए सबसे ज्यादा एक्टिव अगर कोई राज्य सरकार दिख रही है तो वो है उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Adityanath). एक तरफ केजरीवाल सरकार जहाँ दिल्ली से प्रवासी मजदूरों को भगाने में व्यस्त है वहीँ योगी सरकार ने न सिर्फ दिल्ली से आने वाले प्रवासियों को ठहराने के लिए के लिए यमुना एक्सप्रेस वे पर टाउनशिप का अधिक्रहण किया है बल्कि उन्होंने राज्य के 27.5 लाख मनरेगा मजदूरों के खाते में डाले 1000-1000 रुपये भी डाल दिए हैं ताकि मुश्किल वक़्त में उन्हें पैसों की दिक्कत न हो.

प्रदेश के 27.5 लाख मनरेगा मजदूरों के अकाउंट में 611 करोड़ रुपये भेजे गए. केंद्र सरकार ने मनरेगा मजदूरों की मजदूरी 182 रुपये से बढ़ाकर 202 रुपये कर दी है. इसके बाद योगी सरकार की ओर से यह बढ़ाई गई मजदूरी राशि दी गई है. इसके अलावा योगी सरकार ने 20 लाख दिहाड़ी मजदूरों को एक-एक हजार रुपये की सहायता राशि दी. जल्द ही पेंशन का लाभ उठा रहे 83.83 लाख लोगों को दो महीने की अग्रिम पेंशन ट्रांसफर की जाएगी.

केजरीवाल को लिखी चिट्ठी 

योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को अरविंद केजरीवाल को एक चिट्ठी लिखी. चिट्ठी ने योगी ने लिखा ‘उत्तर प्रदेश में दिल्ली के लोगों का पूरा ध्यान रखा जा रहा है और सरकार ये उम्मीद करती है कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार यूपी के लोगों के लिए भी सभी संभव इंतजाम करेगी.’ 

आज नोएडा आयेंगे सीएम योगी 

दिल्ली से आ रहे प्रवासी मजदूरों के रहने की व्यवस्था यमुना एक्सप्रेस वे टाउनशिप में की गई है. दिल्ली से आ रहे किसी भी प्रवासी को कोई दिक्कत न हो इसकी मॉनिटरिंग योगी खुद कर रहे हैं. इसी सिलसिले में वो आज नोएडा आयेंगे और उन जगहों का निरिक्षण करेंगे जहाँ प्रवासी मजदूरों को ठहराया जा रहा है.