अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा की आत्मकथा ‘ए प्रॉमिस्ड लैंड’ इन दिनों देश और दुनिया में तहलका मचाये हुए है. उन्होंने अपनी इस किताब में दुनिया भर के नेताओं पर टिप्पणी की है. इसी कड़ी में उन्होंने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी पर भी टिप्पणी करते हुए उन्हें नर्वस, अपरिपक्व और अयोग्य बता दिया.

राहुल गाँधी (Rahul Gandhi) के प्रशंसकों ने ओबामा (Barack Obama) की टिप्पणी को उनका अपमान बताया और अब ओबामा के खिलाफ उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ के अदालत में केस दर्ज हो गया है. ऑल इंडिया रूरल बार असोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ज्ञान प्रकाश शुक्ल ने लालगंज दीवानी कोर्ट में परिवाद दाखिल किया है. इस पर पहली दिसंबर को सुनवाई होगी.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी तथा पूर्व प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह को लेकर अपनी किताब में बराक ओबामा ने जो बातें लिखी हैैं, वह भारतीय गणतंत्र की लोकतांत्रिक प्रणाली के लिए आपत्तिजनक हैैं, वादी मुकदमा के अनुसार बराक ओबामा ने राहुल गांधी तथा डा.मनमोहन सिंह को लेकर जैसी टिप्पणी की है वह लोकतांत्रिक तथा संप्रभु राष्ट्र के आंतरिक -राजनीतिक मामले में आपराधिक आशय से दखल है. इस कृत्य पर पुलिस को मुकदमा दर्ज किए जाने का निर्देश दिया जाना चाहिए.

ज्ञान प्रकाश ने परिवाद में बताया कि बराक ओबामा ने कुछ लोगों की साजिश से चीन और पाकिस्तान के साथ देश के तनावपूर्ण सम्बन्धों के बीच राहुल गांधी व मनमोहन सिंह को लेकर किताब में ये दावे किए हैं. प्रकाश शुक्ल ने ओबामा के खिलाफ केस दर्ज न होने पर दिल्ली स्थित अमेरिकी दूतावास के समक्ष आमरण अनशन शुरू करने की भी चेतावनी दी है.